२५ अगस्त – दादी प्रकाशमणि जी स्मृति दिवस – वृक्षारोपण

आज २५ अगस्त दादी प्रकाशमणि जी के पुण्य स्मृति दिवस के उपलक्ष में  सावनेर तहसील में साईं मंदिर के परिसर में ब्रह्मकुमारिज सावनेर एवं दैनिक भास्कर इनके संयुक्त विद्यमान से वृक्षारोपण का कार्यक्रम लिया गया

वृक्षारोपण कार्यक्रम में मंदिर के अध्यक्ष रम्भाओ जी मोवाड़े , सेवाकेंद्र संचालिका  बी के सुरेखा दीदीजी , प्रशांत ठाकुर (शहर कांग्रेस कमेटी , सचिव ) चूडामन  जी धुंडे , बी के सुनीता दीदी उपस्थित थे .

सुरेखा दीदी ने कहा की पेड़ सदियों से हमें केवल देने का कार्य करते आये है और हम केवल लेते आये है | आज हमारे असंतुलित जीवन के कारन ही प्रकर्ति का संतुलन बिगड़ गया है | आज हमें अपनी अगली पीढ़ी को अगर बचाना है तो हमें ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने की आवश्यकता है | पेड़ हमें अपने जीवन की सबसे महत्वपूर्ण चीज प्रदान करते है और वो है ऑक्षिजन , जिसके बिना हम जीवित भी नहीं रह सकते | इस तरह से पेड़ पौधों का महत्त्व समजाया |  उपस्थित लोगों को प्रसाद भी दिया गया |

 

नगर परिषद् , सावनेर

ब्रह्माकुमारी प्रियंका बहन रक्षाबंधन का अध्यात्मिक रहस्य स्पष्ट किया |

उन्होंने कहा की यह रक्षाबंधन भाई बहन के वैश्विक रिश्ते की स्मृति दिलाता है | बहन भाई के निर्मल प्रेम का प्रतिक है | आज के इस वर्तमान युग में बहन भाई को तिलक लगाती है, राखी बांधती है और भाई बहन को कुछ सौगात देकर अपनी जिम्मेवारी पूरी कर लेता है | अध्यात्मिक रहस्य छिपे इस त्यौहार को जब ऐसे मनाया जाने लगा तब परमात्म पिता इस धरती पर अवतरित होकर इसका सच्चा महात्म्य हमें समजाते है |

यह मस्तक पर लगाया जाने वाला तिलक आत्मिक स्मृति दिलाता है, राखी श्रेष्ट संकल्प में खुद को बांधने प्रतिक है और मिठाई खिलाना अर्थात मुख से सदा मीठे वचन निकालने का प्रतिक है |ऐसे रक्षा सूत्र के रहस्य को स्पष्ट करते हुए सबको पावनता का प्रतिक राखी बाँधी |

आज १५ अगस्त स्वतंत्रता दिवस और रक्षाबंधन दोनों त्यौहार एक साथ आने के कारन उन्होंने रक्षाबंधन का अध्यात्मिक रहस्य जानने हेतु निमंत्रण दिया था | नगर परिषद् सावनेर में १५ अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर ब्रह्मकुमारिज , सावनेर को निमंत्रित किया गया था | विद्यालय की और से ब्रह्माकुमारी प्रियंका बहन , ममता बहन, ज्योति बहन तथा ब्रह्मकुमार अनिल नगर परिषद् में उपस्थित हुए |मंचासीन अतिथि गन नगराध्यक्ष मैडम रेखा ताइ मोवाड़े जी , उपाध्यक्ष अड़ . अरविन्द लोधी , अड़. चंद्रशेखर बरेठिया , रामराव मोवाड़ेकार्यक्रम के दौरान जेष्ट नागरिक सम्मान और १० कक्षा में विशेष प्रविन्य के साथ पास हुए स्टूडेंट का सत्कार किया गया |

 

बच्चो ने लिया व्यसनमुक्ति का संकल्प

सावनेर महाराष्ट्र शासन व् शालेय शिक्षण विभाग ने सम्पूर्ण महाराष्ट्र में सभी शैक्षणिक संस्था में तम्बाखू मुक्त शपथ लेने के उद्धेश से प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय सेवाकेंद्र सावनेर व राजयोग एजुकेशन एंड रिसर्च  फाउंडेशन के ब्रहाम्कुमारी प्रियंका बहन ने अपने वक्तव्य में बताया की ३१ मई जागतिक तम्बाखू विरोधी दिवस मनाया जाता है , तम्बाखू  सेवन ये जागतिक समस्या तो है ही साथ साथ इससे मुख का कैंसर भी होता है| इसके मरीज भारत और महाराष्ट्र  में सबसे ज्यादा दिखाई देते है.

ब्रह्माकुमारी सुनीता बहन ने बताया की तम्बाखू का सेवन बच्चो को बचपन से ही लग जाता है इसलिए सभी स्कूल तम्बाखू मुक्त होना बहुत जरुरी है | महाराष्ट्र राज्य की १ लाख ९ हज़ार स्कूल से करीब १३ हज़ार स्कूल व्यसनमुक्त हुई है |

“तम्बाखू मुक्ति की शपथ ”  भालेराव हायस्कूल सावनेर में बड़ी संख्या में ली गई . कार्यक्रम में स्कूल के मुख्याध्यापक व्ही . एम . पहाड़े सर , देशमुख सर  व सभी टीचर वर्ग स्कूल के ग्राउंड में उपस्थित थे और अंत में नारे भी लगाये गए .

 

राजयोग मैडिटेशन और मानसिक स्वास्थ्य

राजयोग मैडिटेशन समग्र स्वास्थ्य का राजमार्ग है | राजयोग मैडिटेशन करने से शारीरिक मानसिक एवं अध्यात्मिक स्वास्थ्य ठीक रहता है और जीवन में आनेवाली परिस्थितियों को सामना करने की शक्ति मिल जाती है | राजयोग मैडिटेशन में विचारों के ऊपर कण्ट्रोल करने की विधि सिखाई जाती है | वर्तमान समय में मनुष्य अपने विचारों पर कण्ट्रोल न कर पाने के कारण अनेक समस्याए उत्पन्न होती जा रही है नकारात्मक सोच के कारण उसका शरीर स्वास्थ्य पर और वायुमंडल पर गलत परिणाम होता जा रहा है |

समाज के इस भीषण परिस्थिति को बदलने की शक्ति अगर किसीमे है तो वो है राजयोग उक्त उदगार प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की राजयोग टीचर ब्रह्माकुमारी प्रियंका दीदी इन्होने पंचायत समिति सावनेर में वैद्यकीय अधिकारी व् कर्मचारी इनके लिए राजयोग मैडिटेशन एवं ट्रेनिंग वर्कशॉप का आयोजन किया गया था इस समय वो बोल रही थी |

ब्रह्माकुमारी सुरेख दिदि ने सभी को आशीर्वचन एवं आत्मानुभूति , शांति का अनुभव कराया | कार्यशाला में 80 – 85  अधिकारी व् कर्मचारी वर्ग ने लाभ लिया  तद्पश्चात  ब्रहाम्कुमारिज के द्वारा प्रसाद वितरण किया गया |

 

रक्षाबंधन 2018 @ सावनेर

अदासा वृद्धाश्रम के अध्यक्ष प्रदीप चन्दनबटवे को रक्षा सूत्र बाँधते हुए बी के सुनीता बहन 

 

मुख्याधिकारी संघमित्रा ढोके को रक्षा सूत्र बाँधते हुए बी के प्रियंका बहन

उपविभागीय अधिकारी बहन वर्षारानी भोसले जी को राखी बाँधते हुए बी के प्रियंका बहन