दीपावली उत्सव @ सावनेर

दीपावली उत्सव

सावनेर स्थित प्रजापिता ब्रहमाकुमारिज ईश्वरीय विश्व विद्यालय की ओर से दीपावली का पावन पर्व  मनाया गया. सेवाकेंद्र संचालिका सुरेखा दीदी ने कहा की दीपावली का यह उत्सव विद्यालय में अध्यात्मिक रीती से और बड़े ही उमंग उत्साह से मनाया जाता हैं क्योंकि इसी दिन अविनाशी रूद्र यज्ञ में ब्रह्मा बाबा सहित वरिष्ट दादियों  ने समर्पण किया था. दीपराज शिवबाबा ने हम सबकी आत्मिक ज्योत जगाकर हम सबको अज्ञान के अन्धकार से निकल ज्ञान की रोशनी दी.

साथ ही साथ श्री लक्ष्मी जी की सुन्दर झांकी सजाई गयी और दीप प्रज्वलन भी किया गया , सभी ने सतयुगी दुनिया का यादगार रास खेलकर अपनी खुशियाँ प्रगट की.

मेरा भारत स्वर्णिम भारत – अखिल भारतीय प्रदर्शनी बस अभियान, सावनेर

राजयोगा एजुकेशन एंड रिसर्च फाउंडेशन का युवा प्रभाग तथा प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय  से निकला हुवा अखिल भारतीय प्रदर्शनी बस अभियान भारत वर्ष के अनेकानेक गावों शहरों एवं कस्बों को पार करते हुए दी 29.10.18 को महाराष्ट्र के सावनेर तहसील में पहुंचाते युवावों की जनजागृति के लिए “आओ चुनोतियों का स्वीकार करे ” इस विषय पर प्रवचन हुवा

कार्यक्रम के उद्घाटन पर माननीय सुनील बाबु केदार (आमदार , सावनेर विधानसभा क्षेत्र ) , ब्रह्माकुमारी रजनी दीदी( संचालिका , नागपुर क्षेत्र ) , ब्रह्माकुमारी प्रतिभा ( यूथ विंग रैली इंचार्ज ) तथा सावनेर शहर के गणमान्य लोक उपस्थित थे .

ब्रह्माकुमारी रजनी दीदी ने अपने वक्तव्य में कहा आज के युवा पीढ़ी को जो अलग अलग प्रकार के व्यसन बुराई में अपने कीमती समय को गवा रही है उन्हें आध्यात्मिकता की ओर के जाने की जरुरत है .

सुनील बाबु केदार (आमदार , सावनेर विधानसभा क्षेत्र ) ने कहा की यही वो द्वार है जहां इस भारत का , या कहे इस दुनिया का नक्षा बदलने की ताकत रखता है , राजयोग मैडिटेशन से ही जीवन में सच्ची सुख और शांति आ सकती है .

सावनेर शहर के अलग अलग संस्था समिति क्लब्स संघटनाओं ने यूथ अभियान का मोमेंटो ओर गुलदस्तों के साथ अभिनन्दन किया और

रायनो तायकंदो असोसिएशन सावनेर, सावनेर  तायकंदो असोसिएशन, आइकॉन स्केटिंग अकादमी सावनेर , जिल्हा स्तरीय क्रिकेट टीम  के बच्चों को (कुल मिलकर 45 ) मोमेंटो से सन्मानित किया गया

अंत में सबको प्रसाद भी बंटा गया.

 

आओ चुनोतियों को स्वीकार करे

सावनेर : राजयोग एजुकेशन एंड रिसर्च फाउंडेशन का युवा प्रभाग तथा प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय से निकला हुवा अखिल भारतीय बस प्रदर्शनी अभियान भारत वर्ष के अनेकानेक  गावो शहरों एवं कस्बों को पर करते हुए युवावों की जनजागृति के लिए कार्य कर रहा है . यह अभियान सावनेर में २९ अक्टूबर को खास युवाओं के लिए और सभी के लिए प्रेरणादायी रहेगा कार्यक्रम शाम 6 बजे महाजन लॉन में रखा गया है . ब्रह्माकुमारी सुरेखा दीदी ने सभी सावनेर वासियों को कार्यक्रम का लाभ लेने का आवाहन किया है साथ ही साथ कार्यक्रम के पश्चात् प्रसाद भी रहेगा.

रक्षाबंधन 2018 @ सावनेर

अदासा वृद्धाश्रम के अध्यक्ष प्रदीप चन्दनबटवे को रक्षा सूत्र बाँधते हुए बी के सुनीता बहन 

 

मुख्याधिकारी संघमित्रा ढोके को रक्षा सूत्र बाँधते हुए बी के प्रियंका बहन

उपविभागीय अधिकारी बहन वर्षारानी भोसले जी को राखी बाँधते हुए बी के प्रियंका बहन

२४ जून – मातेश्वरी जगदंबा स्मृति दिन

२४ जून – मातेश्वरी जगदंबा स्मृति दिन

ब्रह्माकुमारी संस्थान की प्रथम मुख्य प्रशासिका मातेश्वरी जगदम्बा सरस्वती मम्मा का 53वां पुण्य स्मृति दिवस मनाया गया। रविवार को आयोजित कार्यक्रम में देशभर से पधारे लोगों ने श्रद्धासुमन अर्पित किए कर उनके द्वारा किए गए कार्यों को याद किया। आप कठिन योग-तपस्या से संपूर्णता की स्थिति को प्राप्त कर 24 जून 1965 को 46 वर्ष की आयु में अव्यक्त हो गईं थीं। तब से लेकर इस दिन ब्रह्माकुमारीज के देश-विदेश के सभी सेवाकेंद्रों पर विशेष योग-तपस्या के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।

प्रजापिता ब्रह्मकुमारिज ईश्वरीय विश्व विद्यालय सेवाकेंद्र सावनेर की संचालिका ब्रह्माकुमारी सुरेखा दीदी ने कहा कि मम्मा ममता और त्याग-तपस्या की साक्षात् मूरत थीं। आपका गंभीर स्वभाव और ममतमयीं गुणों ने सभी को अपना बना लिया। मम्मा रात में 2 बजे से जागकर योग-तपस्या करती थीं। आपमें योग और ईश्वरीय ज्ञान के प्रति लगन के चलते संस्था के साकार संस्थापक ब्रह्मा बाबा ने आपको इस ईश्वरीय विश्व विद्यालय की प्रथम मुख्य प्रशासिका नियुक्त किया। मम्मा ने इस जिम्मेदारी को बखूबी निभाया और उनकी ही योग-तपस्या का कमाल है जो आज ये संगठन विशाल वटवृक्ष बन गया है। आप इस रुहानी सेना की एक आदर्श, प्रेरणास्रोत कमांडर थीं। उन्होंने कहा कि मम्मा का व्यक्तित्व योग-साधना से इतना प्रभावशाली हो गया था कि जो भी उनके सामने आता था वह उनमें मां की अनुभूति करता था। इसीलिए छोटे-बड़े सभी उन्हें प्यार से मम्मा कहकर पुकारते थे। साथ ही योग के माध्यम से विश्व में शांति और सद्भावना के प्रकम्पन फैलाए। 20180624_091736

 

 

 

21 जून – अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

21 जून – अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

         प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय सेवाकेंद्र सावनेर की और से विश्व योग दिवस के उपलक्ष्य में राजयोग एवं योगाभ्यास कार्यक्रम का आयोजन किया गया .

        वर्तमान  अशांति की जंजीरों में जकडे विश्व में व्याप्त नकारात्मक उर्जा , बढ़ती हिंसा ,आसमान छुती महंगाई , अनाचार , दुराचार , अत्याचार , प्राकृतिक आपदाये , पारिवारिक, सामाजिक , देशीय व अन्तर्राष्ट्रीय समस्याओं की चक्की में पिसते मनुष्य को राहत पहुँचाने के लिए एकमात्र उपाय है राजयोग का अभ्यास .उक्त उद्गार सावनेर सेवाकेंद्र की संचालिका ब्रह्माकुमारी सुरेखा ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिन के उपलक्ष्य में उच्चारे है.

        कार्यक्रम का उद्घाटन सावनेर नगराध्यक्ष्य रेखाताई मोवाड़े ,पत्रकार मनोहर घोलसे एवं दीदीजी के हस्ते दीप प्रज्वलन करके हुवा उपस्थित भाई बहनों ने प्राणायाम और शारीर स्वास्थ्य के लिए योगाभ्यास भी  किया .

20180621_060031

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिन

                                             अंतर्राष्ट्रीय महिला दिन

आज के इस आधुनिक युग में नारी शक्ति को हर क्षेत्र में स्थान दिया जा रहा है | कानून व्यवस्था एवं सरकार भी उन्हें सुरक्षा सहयोग दे रहा है | यह बाहरी विकास के साथ साथ उन्हें आतंरिक विकास की अति आवश्यकता है | उक्त उदगार प्रजापिता ब्रह्मकुमारिज ईश्वरीय विश्व विद्यालय सेवाकेंद्र सावनेर की संचालिका ब्रह्माकुमारी सुरेखा दीदी ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिन के उपलक्ष्य में उच्चारे है |

कार्यक्रम में सावनेर तहसील की जाने माने डॉ प्राची भगत ने कहा की बेटा और बेटी एक ही सिक्के के दो पहलू है | आज के समय एक बेटी विकास के हर क्षेत्र में आगे बढ़ते नजर आ रही है तो फिर यह लिंग भेद क्यूँ ?यह एक परंपरा से चली आ रही गलत रीती है और आज हम सबको मिलकर यह रिवाज खत्म करना है उसके लिए सभी महिलाओं को एकमत होकर कार्य करना है |

लोकमत सखी मंच एवम बाल विकास मंच संयोजिका ज्योति पारधी इन्होने अपनी कविता के द्वारा उपस्थित महिलाओं को सबला बनने का सन्देश दिया

इस निमित्य बेटी बचाओ के ऊपर एक ड्रामा रखा गया | विद्यालय के द्वारा डिश डेकोरेशन कम्पटीशन और साथ में आनंद मेले का भी प्रयोजन किया गया | इस कार्यक्रम का हजारो माता बहनों ने लाभ लिया |

deep prajwalan

11111111111 222222222 33333333 public beti bachao drama 4444444444

 

 

 

त्रिमूर्ति शिव जयंती महोत्सव – २०१८

82 वी त्रिमूर्ति शिवजयंती महोत्सव

आज वर्तमान समय मनुष्य जीवन भौतिकता से भरपूर है लेकिन भौतिकता होते हुए भी जीवन में कमी है तो सच्चे सुख और शांति की और उसकी प्राप्ति के लिए अपने जीवन में ईश्वर को स्थान देना अति आवश्यक है उक्त उद्गार प्रजापिता ब्रह्मकुमारिज ईश्वरीय विश्व विद्यालय सेवाकेंद्र सावनेर की प्रभारी ब्रह्माकुमारी सुरेखा इन्होने महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर निकाले.

 इस निमित्य द्वादश 12 ज्योतिर्लिंगम मंदिर की झांकी बनाई गई और “भगवान कौन ?” इस विषय पर लघुनाटिका प्रस्तुत की गई. कार्यक्रम का उद्घाटन बहन रेखाताई मोवाड़े तथा डॉ जयंत कडसकर (ऑय स्पेशलिस्ट) इनके हस्ते दीप प्रज्वलन करके हुआ.

विशेष अतिथि के रूप में अरविन्दजी लोधी (एडवोकेट, उपाध्यक्ष नगर परिषद् सावनेर) ने कार्यक्रम की शुभकामना दी. आँखों की जाँच का शिविर डॉ जयंत कडसकर (ऑय स्पेशलिस्ट) के द्वारा लिया गया अन्त में हजारो भाई बहनों ने कार्यक्रम का लाभ लिया और महाप्रसाद का वितरण हुआ…

page

New Doc 2018-02-19pic

20180213_084012 20180213_084041 20180213_093641 20180213_094412 20180213_095928 20180213_095930 20180213_101930 20180213_101957 20180213_131540 20180213_182724 20180213_192004 20180213_192008 20180213_203850 20180213_204047 IMG-20180214-WA0005 IMG-20180214-WA0006 IMG-20180214-WA0008 IMG-20180214-WA0009 IMG-20180214-WA0013 IMG-20180214-WA0019 IMG-20180214-WA0020 IMG-20180214-WA0021 IMG-20180214-WA0023